Rating:

Deewaron Ke Saye Mein

120.00 (as of July 19, 2018, 1:38 pm) & FREE Shipping. Details 108.00

अमृता प्रीतम की इस कृति में संसार में चारी की स्थिति, पीडा, विडम्बना और विसंगतियों को मुखर किया गया है । इसमें वास्तविक नारी चरित्रों पर लिखी अनेक कहानियां भी

Usually dispatched within 24 hours

Quantity

अमृता प्रीतम की इस कृति में संसार में चारी की स्थिति, पीडा, विडम्बना और विसंगतियों को मुखर किया गया है । इसमें वास्तविक नारी चरित्रों पर लिखी अनेक कहानियां भी है । जिनमें लेखिका ने समाज की और मन की दीवारों से आरंभ करके कारागार की दीवारों तक इन सभी से बंद स्त्री-पुरुषों का मार्मिक चित्रण किया है । ‘तिरिया जनम झन देव’ या काहे को दीनो यह मनुआ रामजी,काहे को जैनी यह काया-इस रचना का मर्म बिन्दू है।

Author

Binding

EAN

EANList

Edition

ISBN

ItemDimensions

Label

Languages

Manufacturer

NumberOfPages

PackageDimensions

ProductGroup

ProductTypeName

PublicationDate

Publisher

Studio

Related Products