Rating:

MANN KA VIGYAN – MANN KE BUDDHA KAISE BANE (HINDI)

135.00 (as of July 19, 2018, 11:27 am)

मन सताए तो क्या करें

Usually dispatched within 1-2 business days

Quantity

मन सताए तो क्या करें

विज्ञान की मदद से विश्‍व में आज तक कई चमत्कार देखे गए हैं और कई चमत्कारों पर संशोधन जारी भी है। किंतु क्या कभी आपने आदर्श और प्रशिक्षित मन का चमत्कार देखा है? अगर नहीं तो यह पुस्तक आपके लिए है। हर कल्पना से परे विश्‍व का सबसे बड़ा चमत्कार आदर्श तथा प्रशिक्षित मन के साथ ही हो सकता है, यह ‘मन का विज्ञान’ इस पुस्तक द्वारा जान लें और जब मन सताए तब नीचे दी गई बातों पर महारत हासिल करें।

• मन क्या है, मन के भिन्न पहलू कौन से हैं और मन के बुद्ध कैसे बनें
• विचारों और भावनाओं द्वारा मन किस तरह सच पर हावी हो जाता है
• सरल उपमाओं द्वारा जानें मन की कार्यपद्धति
• मन के विकार और उनसे आज़ादी का मार्ग
• मन की सारी नकारात्मक आदतों से छुटकारा पाने के रचनात्मक तरीके
• मन को आदर्श बनाने का उद्देश्य और पद्धति
• मनोरंजन में मन कैसे उलझता है और उससे मुक्ति के उपाय
• मन के नाटक होते हैं अनेक, उनसे छुटकारा पाने के तरीके भी हैं अनेक
• मन के बुद्ध बनने के लिए आवश्यक आठ कदम

इस पुस्तक द्वारा आप सुप्त मन के अनोखे रूप से परिचित होंगे तथा मन के बुद्ध बनने का राजमार्ग जान पाएँगे, जो हमें मन सताने से पहले सीख लेना चाहिए।

About Author

Sirshree is a spiritual maestro whose key teaching is that all paths that lead to truth begin differently but end in the same way-with understanding. Listening to this understanding is enough. Sirshree has delivered more than a thousand discourses and written over forty books on spirituality and self-help. He is the founder of the Tej Gyan Foundation which disseminates a unique system of wisdom from self -help to self-realization.

Author

Binding

EAN

EANList

ISBN

Label

Languages

Manufacturer

NumberOfPages

PackageDimensions

ProductGroup

ProductTypeName

PublicationDate

Publisher

Studio

Related Products